बीना किसी खर्च के बेहतरिन विपणन रणनीतियां

किसी भी बिजनेस को शुरु करने से पहले स्टार्टअप्स के लिये एक तगड़ी मार्केटिंग स्ट्रेटजी की होना बहुत ही जरुरी होता है। बीना मार्केटिंग स्ट्रेटजी के किसी भी बिजनेस को सफल बनाना बिल्कुल भी संभव नहीं है।  हर स्टार्टअप को शुरु करने से पहले एक अच्छी विपणन रणनीति के तहत ही शुरु किया जाता है ताकि बीना किसी रुकावट के सफलता मिल सके। इसके साथ बिजनेस नया है तो जाहिर सी बात है आपको हर खर्चों के बारे में पहले से ही काफी सोचा पड़ेगा ताकि आप अपने तय किये गये खर्चों से ओवर बजट ना हो जाएँ, क्योंकि सच्चाई ये है कि स्टार्टअप्स के लिये फंड जुटाना अपने आप में बहुत बड़ी चुनौती होती है। बड़ी कंपनीयों और कॉरपोरेट की तरह उनके पास ज्यादा बजट नहीं होता है। ऐसे में विज्ञापन पर पैसे खर्च करना उनके लिये बड़ी और मुश्किल बात हो जाती है। मार्केटिंग के लिये काफी पैसे खर्चने पड़ते है जो कि एक स्टार्टअप के लिये बहुत ही कठिन साबित होता है ऐसे में जरुरत होती है मार्केटिंग के कुछ योजनाओं की जिनमें खर्चा ना के बराबर हो, तो अगर आप अपने बिजनेस के लिये मार्केटिंग आइडियाज की तलाश में हैं जहाँ आपको बिल्कुल भी किसी तरिके का खर्च ना करने पड़े तो ये आर्टिकल केवल आपके लिये हैं, जहाँ हम आपको बीना किसी खर्च के कुछ बेहतरिन मार्केटिंग स्ट्रेटजी के बारे में बताने जा रहे हैं।

1-वर्ड ऑफ माउथ मार्केटिंग

जहाँ तक मार्केटिंग का सवाल है तो इसका सबसे पुराना और सबसे भरोसेमंद तरिका है वर्ड ऑफ माउथ। ये विपणन का एक ऐसा तरिका है जिसपर कोई भी कंपनी आंख बंद करके भरोसा कर सकती है और इसका सबसे बड़ा कारण है कंपनी के कस्टमर और उसके क्लाइंट। क्योंकि आपके काम से आपके प्रोडक्ट तथा सेवाओं से खुश आपका हर कस्टमर और क्लाइंट दूसरों को इसके बारे में बताता है। जब भी उन्हें किसी को प्रोडक्ट तथा सेवाओं के बारे में सलाह देनी होगी जो आपकी कंपनी द्वारा प्रदान की जाती हो तो जाहिर से बात है वो आपकी कंपनी के नाम का ही सुझाव देगें बशर्ते वो आपको काम से संतुष्ट हों। इसलिये आप अपने हर ग्राहक को समान रुप से ट्रीट करें और हमेशा उनकी सुझावों और आपके प्रोडक्ट तथा सर्विसेस से जुड़ी फीडबैक तथा सलाह को ध्यान से सुने तथा जहाँ तक संभव हो उसे अपने काम को बेहतर करने में शामिल करें। 

2-सोशल मीडिया मार्केटिंग का महत्व

बात जब मार्केटिंग की आती है और खासकर नये बिजनेस के मार्केटिंग की सोशल मीडिया से बेहतर कुछ हो ही नहीं सकता है। आजकल के डिजिटल हो चुकी दुनिया में जहाँ हर काम के लिये लोग इंटरनेट और सोशल मीडिया की मदद लेते हैं तो जाहिर सी बात है किसी भी कंपनी और उसके प्रोडक्ट तथा सेवाओं के बारे में जानकारी लोगों को सोशल मीडिया के द्वारा ही मिलती है, ऐसे में आप सोशल मीडिया मार्केटिंग के द्वारा अपने व्यवसाय को एक अलग ही ऊँचाईयों पर ले जा सकते हैं। और इस काम में आपको किसी खर्चे की भी जरुरत नहीं पड़ेगी। जरुरत है तो बस अपने कंपनी और बिजनेस के नाम पर एक पेज बनाने की और वहाँ अपनी कंपनी और साथ ही अपने प्रोडक्ट तथा सर्विसेस से जुड़ी जानकारी दे सकते हैं। यहाँ आप अपने क्लाइंट से जुड़ सकते हैं तो दूसरी तरफ नये कस्टमर्स को भी खुद से जोड़ पाएगें।

3-अपने ब्रांड को स्थापित करें

ये बिल्कुल भी जरुरी नहीं है कि अगर आप बिजनेस के लिये बहुत ज्यादा पैसे लगाकर मार्केटिंग की रणनीतियां बना रहे हैं तो वो काम करेगी हीं, कई बार ऐसा होता है बहुत सोच विचार कर तथा उच्च लागत के साथ बनाई गई मार्केटिंग स्ट्रेटजी भी बहुत ही बुरे तरिके से विफल हो जाती हैं, ऐसे में जरुरत है तो पहले अपने ब्रांड को स्थापित करने की और इसके तहत आप अपने सेवाओं तथा प्रोडक्ड को अपने ग्राहकों के बीच प्रमोट कर सकते हैं। ब्रांड मार्केटिंग केवल आपके कंपनी का नाम, इसका लोगो और इसके डिजाइन तक ही सीमित नहीं होता है, बल्कि इसके द्वारा आप अपनी कंपनी का गोल, उसका उद्देश्य, उसकी पहचान तथा वैल्यूज इन सारी बातों को अपने ऑडियन्स तक पहुँचा सकते हैं। इसके लिये आप लोगों को कुछ फ्री सर्विसेस प्रदान कर सकते हैं। अपने सेवाओं तथा प्रोडक्ड को लेकर अपने क्लाइंट की समस्याओं का जल्द समाधान करना तथा कंपनी और कस्टमर्स के बीच एक भरोसे का सम्बधं बनाना भी जरुरी है। और ये सारी बातें आपके ब्रांड को स्थापित करने बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

4-ईमेल मार्केटिंग

अपने ईमेल लिस्ट को बढ़ाने की कोशिश करें। ये मार्केटिंग का एक बहुत ही प्रभावी तथा स्थायी तरिका है। ऐसे में कोशिश करें की आपके पास सही और मूल रुप से क्यूरेट की गई ईमेल लिस्ट हो क्योंकि ईमेल मार्केटिंग बहुत ही लागत कुशल तरिकों में से एक है। और इसका सबसे बढ़िया तरिका है आप अपनी कंपनी की वेबसाइट पर ईमेल सब्सक्रिप्शन बॉक्स का प्रयोग करें, इससे आप अपने वेबसाइट के ट्रैफिक को ईमेल लिस्ट में बदल सकते हैं।

इसके अलावा भी रेफरेल्स, कंटेंट मार्केटिंग तथा पर्सनल ब्रांडिंग जैसे कुछ और भी मार्केटिंग के तरिके हैं जिनमें आपको किसी भी तरह के खर्च की आवश्यकता नहीं पड़ती है।