भारत में वर्क फ्रॉम होम के अवसर

विकसित देशों की तर्ज पर अब भारत में भी वर्क फ्रॉम होम को लेकर पिछले कुछ सालों में काफी बढ़ावा मिल रहा है। पहले जहाँ वर्क फ्रॉम होम को हाउस वाइव्स, रिटार्यड पर्सन तथा कॉलेज गोइंग स्टूडेंट के लिये घर बैठ कमाई का एक जरिया माना जाता था, लेकिन अब इसमें काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। अब बड़ी-बड़ी कंपनियां भी वर्क फ्रॉम होम को ध्यान में रख कर प्रोफेशनल्स को हायर कर रही हैं। ऐसे में आज हम आपको ऐसे ही कुछ शानदार वर्क फ्रॉम होम के अवसरों के बारे में बताने जा रहे हैं।

कंटेंट राइटर

अगर आप में लिखने का हुनर है और आप अपनी लेखनी के दम पर लोगों तक अपनी बात पहुँचा सकते हैं तो यह फिल्ड आपके लिये ही है। एक कंटेंट राइटर बनने के लिये जरुरी नहीं की आप पत्रकारिता की पढ़ाई करें आप किसी भी फिल्ड से हो सकते हैं। बस आपके अन्दर लिखने की कला होनी चाहिये साथ ही संबंधित विषयों का ज्ञान जिस पर आप लिख सकें। और आज डिजिटल मीडिया के दौर में एक कंटेंट राइटर की डिमांड काफी बढ़ गई है। अंग्रेजी के साथ ही हिन्दी तथा अन्य भाषाओं में भी कंटेंट की डिमांड काफी बढ़ी है। ऐसे में एक हिन्दी कंटेंट राइटर के तौर पर आप अच्छाखासी कमाई कर सकते हैं। एक कंटेंट राइटर का काम अलग-अलग वेबसाइट के लिये कंटेंट तैयार करना होता है। ये ब्लॉग्स, टेक्निकल राइटिंग, कमर्शियल, हेल्थ, एंटरटेंनमेंट और एजुकेशन  इन सबके लिये भी कंटेंट लिखने का काम करते हैं।

इवेंट प्लानर

इवेंट मैनेजमेंट एक उभरता हुआ उद्योग है, खासकर भारत जैसे देश में जहां युवा आबादी दुनिया के अन्य देशों की तुलना में अपेक्षाकृत अधिक है। आज हर जगह शादी ब्याह हो या फिर बर्थडे पार्टीज और यहाँ तक कि बड़े-बड़े कॉरपोरेट पार्टीज के लिये इंवेट प्लानर की मदद ली जाती है। ऐसे में कुशल इवेंट मैनेजर्स की बहुत अधिक डिमांड है

वेब डेवलपर

आजकल ज्यादातर युवा आईटी फिल्ड में जाना चाहते हैं और इसकी सबसे बड़ी वजह इस फिल्ड में जॉब्स की संख्या अन्य क्षेत्रों के मुकाबले कहीं ज्यादा होती है जिसके वजह से जॉब्स मिलने में आसानी होती है और दूसरा इसमें बाकी नौकरियों के तुलना में सेलरी भी बहुत अच्छी मिलती है और साथ ही लगातार कुछ ना कुछ नया सीखने को मिलता है। सॉफ्टवेयर डेवलपर ज्यादातर स्वतंत्र रुप से फ्रीलांस के तौर पर कार्य करते हैं। अगर आपको कम्प्यूटर तथा सॉफ्टवेयर की जानकारी है तो आप एक वेब डेवलपर के तौर पर काम कर सकते हैं। सॉफ्टवेयर डेवलपर बनने के लिये किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 पास होना अनिवार्य होता है। इसके साथ ही अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ होना तथा कंप्यूटर का नॉलेज होना भी बहुत ही जरुरी होता है। इसके अलावा कुछ कोडिंग लैंग्वेजेज जैसे- C++, जावा, पायथन, एक्सएमएल तथा एचटीएमएल की जानकारी होने के साथ ही डेटाबेस के बेसिक्स का क्लीयर होना भी इस फिल्ड में कैरियर बनाने के लिये बहुत ही अनिवार्य है। इसके बाद आप इस फिल्ड से संबंधित कई तरह के कोर्सेस में अपने मन मुताबिक कोर्स करके इस फिल्ड में अपना कैरियर बना सकते हैं।   

ट्रांसलेटर 

अगर आपकी भाषा पर पकड़ है तो  ट्रांसलेटर की नौकरी भी एक अच्छा विकल्प है। एक अनुवादक के तौर पर आपको अंग्रेजी, हिन्दी तथा अन्य क्षेत्रिय भाषाओं में दिये गये कंटेंट का अनुवाद करना होता है। इसके साथ ही अगर आपको किसी विदेशी भाषा का ज्ञान हो तो इस फिल्ड में आप और भी ज्यादा कमाई कर सकते हैं। अनुवादक की नौकरी सरकारी विभागों के साथ प्राइवेट क्षेत्रों में भी होती है। मीडिया के फिल्ड में ट्रांसलेटर्स की नौकरी मिल सकती है। ऐसी कई सारी वेबसाइट्स हैं जो फ्रीलांस अनुवादकों को काम देती हैं।

सोशल मीडिया मैनेजर

अब जमाना सोशल मीडिया का है। अब हर छोटी-बड़ी कंपनी का सोशल मीडिया हैंडल जरुर होता है। जिसके माध्यम से वो अपने प्रोडक्ट तथा सर्विसेस के बारे में प्रचार प्रसार करती है और इसके माध्यम से डायरेक्ट सेल भी करती हैं। साथ ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के मदद से अपने ग्राहको से जुड़ते हैं और ये सब काम सोशल मीडिया मैनेजर का होता है।  सोशल मीडिया मैनेजर का काम फेसबुक, ह्वॉटसेप, ट्विटर, इंस्टाग्राम तथा यूट्यूब और बाकी भी जितने सोशल मीडिया साइट्स है, उन पर ऑर्गनाइजेशन या कंपनी का प्रचार-प्रसार करना होता है।

कैटरिंग का काम

अगर आपको खाना बनाने का शौक है तो कैटरिंग का बिजनेस आपके लिये बिल्कुल सही साबित होगा। कैटरिंग के काम के लिये आपको बहुत ज्यादा पढ़ेलिखे होने की आवश्यकता नहीं होती है। इस काम के लिये आपको प्रॉपर प्लानिंग, खाने की क्वॉलिटी और क्वॉन्टिटी तथा प्रेजेन्टेशन जैसी चीजों का आना जरुरी होता है। 

योगा इंस्ट्रक्टर

आज के समय में हर इंसान अपनी हेल्थ को लेकर पहले से कहीं ज्यादा सजग हो चुका है। और खुद को स्वस्थ रखने के लिये लोग जिम और योगा क्लासेस ज्वाइन करते हैं। अगर आप चाहें तो अपने घर में ही योगा सीखा सकते हैं। जिसके लिये आप पर पर्सन 500 रुपये से लेकर 3 हजार रुपये तक ले सकते हैं।

डांस क्लासेस

अगर आपको नाचने गाने का शौक है तो आप इसमें भी करियर बना सकते हैं। और इसके लिये जरुरी नहीं कि आपको बाहर जाना पड़े। आप अपने घर में ही डांस क्लास की शुरुआत कर सकते हैं। इसमें आप हर महिने 15 से 20 हजार रुपये आराम से कमा सकते हैं।

डाटा एंट्री जॉब

अगर हम आज के समय की बात करें तो आज हर कोई एक अच्छी जॉब के साथ ही साथ अच्छे सेलरी की चाह भी रखता है। ऐसे में डाटा एंट्री का जॉब एक बेहतर विकल्प हो सकता है। इसमें एक तरफ जहाँ आपको अपने हिसाब से घर से भी काम करने की आजादी मिलती हैं तो दूसरे तरफ अच्छे पैसे भी मिलते हैं। एक डाटा एंट्री ऑपरेटर के तौर पर आप पार्ट टाइम या फुल टाइम जॉब घर से कर सकते हैं। इसके लिये आपको कंप्यूटर की जानकारी होना जरुरी है। किसी एक भाषा पर अच्छी पकड़ होना जरुरी है, साथ ही अगर आपकी टाइपिंग स्पीड अच्छी हो तो फिर कहने ही क्या। डाटा एंट्री की जॉब गवर्नमेंट और प्राइवेट दोनों ही सेक्टर्स में मिलते हैं। जिसमें आपको अनुभव और योग्यता के आधार पर वेतन मिलता है।

अब अगर काम की बात करें तो एक डाटा एंट्री के तौर पर आपको कंपनी के ओर से पहले से मौजूद  डेटा को कम्प्यूटर पर अपडेट और फीड करना होता है। साथ ही कंपनी के सर्वर पर उपलब्ध डाटा को मेंटेंन करने का काम भी एक डाटा एंट्री ऑपरेटर को करना पड़ता है।

ऑनलाइन ट्यूटर

आजकर ऑनलाइन ट्यूशन का जॉब बहुत ही लोकप्रिय है। अगर आपकी किसी विषय पर अच्छी पकड़ है तो आप घर बैठे ऑनलाइन ट्यूशन चला सकते हैं। इसके तहत आप दुनिया के किसी भी कोने में बैठे छात्रों को ट्यूशन दे सकते हैं।

केवल ऑनलाइन ही नहीं आप अपने घर में रहकर भी छोटे-छोटे बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर कमाई कर सकते हैं और इस काम के लिये आपको किसी भी तरह का निवेश करने की जरुरत नहीं पड़ेगी। और जैसे-जैसे आपकी कमाई बढ़ेगी आप अन्य सुविधाओं को एकत्र करके बड़े क्लास के बच्चों को भी पढ़ा सकते हैं।