मार्केटिंग फिल्ड में नौकरी के सबसे बेहतर विकल्प क्या है?

भारत में कई बेहतर और कई तरह की इंडस्ट्रीज हैं, इसके बाद भी जॉबसीकर्स के लिये मार्केटिंग एक काफी चहेती फिल्ड रही है। इसकी वजह है ज्यादातर मार्केटिंग जॉब्स हाई पे स्केल की होती है। और यही कारण है कि आज के समय में मार्केटिंग की जॉब्स लोगों की पहली पसंद बनती जा रही है। पर साथ ही लोगों के मन में ये दुविधा रहती है कि इतने सारे मार्केटिंग जॉब्स में से अपने लिये बेहतर मार्केटिंग रोल का चुनाव कैसे करें तो अगर आप भी मार्केटिंग के फील्ड में कैरियर करना चाहते हैं लेकिन इस परेशानी का हल नहीं ढूँढ पा रहे है कि तो इस आर्टिकल में हम आपके लिये इससे जुड़ी सारी जानकारी लेकर आये हैं। तो चलिये मार्केटिंग जॉब्स के कई सारे ऑप्शन्स में से हम आपको बताते हैं कि चुनिंदा और बेहतरिन मार्केटिंग जॉब्स के बारे में।

 मार्केटिंग मैनेजर-

इनका काम कंपनी के प्रोडक्ट एंड सर्विसेस के मार्केटिंग से जुड़ा सारा काम देखना होता है। इसके साथ ही मैन्युफैक्चरिंग एंड फाइनेंस डिपार्टमेंट के बीच ये एक महत्वपूर्ण लिंक की तरह काम करते हैं। ये कस्टमर्स की जरूरतों तथा कंपनी के प्रोडक्ट तथा सेवाओं को लेकर उनकी अपेक्षाओ को समझने के लिये रिसर्च करते हैं। और साथ ही कस्टमर्स के डिमांड को पूरा करने की कोशिश करते हैं।

मार्केटिंग रिसर्च एनालिस्ट

कोई भी कंपनी मार्केट में अपने प्रोडक्ट को लॉन्च करने से पहले यह जरुर तय करती है कि लोगों को उसका प्रोडक्ट पसंद आयेगा या नहीं। लोगों को कैसा प्रोडक्ट तथा सर्विस पसंद है और उसके लिये वो कितना खर्च कर सकते हैं। ऐसे कुछ खास सवालों के जवाब के लिये कंपनी के द्वारा मार्केट रिर्सच कराया जाता है। जिसके लिये कंपनिया बकायदा मार्केटिंग रीसर्च एनालिस्ट को हायर करती हैं। इनका काम सर्वे एंड रिर्सच से जुड़ा होता है। ये कंपनी के लिये मार्केट रिसर्च का काम करते हैं और फिर उसके आधार पर कंपनी को अपनी रिपोर्ट सौंप देते हैं। और इस रिपोर्ट के आधार पर ही कंपनी अपनी मार्केटिंग स्ट्रेटजी प्लान करती हैं।

एसईओ स्पेशलिस्ट

एसईओ का पूरा नाम है सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन। यह एक ऐसा प्रॉसेस है जिसके द्वारा किसी भी वेबसाइट को सर्च इंजन में सबसे ऊपर लाया जाता है। एक एसइओ स्पेशलिस्ट का काम अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन में हमेशा टॉप पर बनाये रखने की होती है। जिसके लिये ये कुछ खास तथा उपयुक्त कीवर्ड का प्रयोग करने के साथ ही साथ कई अन्य एसईओ टैटिक्ट्स का यूज करते हैं।

ब्रांड एंड प्रोडक्ट मैनेजर

किसी भी कंपनी में एक ब्रांड तथा प्रोडक्ट मैनेजर का काम प्रोडक्शन एंड ब्रांडिंग से जुड़ा होता है। किसी भी प्रोडक्ट की प्लानिंग, मैन्युफैक्चरिंग, ब्राडिंग और लॉचिंग में इनका बहुत ही इम्पोर्टेंट रोल होता है। किसी भी कंपनी के नये प्रोडक्ट को पूरी प्लानिंग के साथ बाजार में सक्सेसफुली लाने का पूरा क्रेडिट एक प्रोडक्ट मैनेजर को जाता है।

वेब कंटेंट राइटर

किसी भी कंपनी या ऑर्गनाइजेशन के लिये लोगों के बीच अपना इमेज बनाये रखना बहुत ही जरुरी होता है। और इस काम के लिये जिन प्रोफेशनल्स की जरुरत होती है उनको पीआर स्पेशलिस्ट कहा जाता है। इनका काम कैंपेन के द्वारा या किसी भी दूसरे मिडियम से कंपनी, ऑर्गनाजेशन और साथ ही सरकार की इमेज को लोगों के बीच सुधारना होता है। जिसके लिये ये प्रस रिलिज, एडवर्टीजमेंट और सोशल मिडिया का भी यूज करते हैं।

एक वेब कंटेंटराइटर का काम अपनी कंपनी तथा वेबसाइट के लिये ब्लॉग्स लिखने का होता है। ये अपने ब्लॉग पोस्ट, मोर्केटिंग कॉपी और साथ ही अलग-अलग तरह के कंटेंट के जरिये अपने वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा व्यूअरर्स को लाने का काम करते हैं। इनका मुख्य काम अपने कंटेंट के जरिये अपनी वेबसाइट पर विजिटर्स को बढ़ाना होता है और इसके लिये खास कीवर्डर्स का प्रयोग करते हैं जो कि इनके प्रोडक्ट तथा सर्विस से जुड़ा होता है, और अपने कंटेंट में इनको यूज करके ये अपनी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा व्यूअरर्स को लाने में सफल होते हैं। और आज इंटरनेट तथा डिजिटल दुनिया में यह कॉरियर का एक बेहतरिन विकल्प साबित हो रहा है। इस फिल्ड में काम के लिये आपकी किसी एक भाषा पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए और अगर आपको एक से अधिक भाषाओं का ज्ञान हो ता ये आपके लिये और भी अच्छा होगा। इसके साथ ही आपके पास फुल टाइम, पार्ट टाइम तथा फ्रीलांस काम करने के भी मौके होते हैं। 

पब्लिक रिलेशन स्पेशलिस्ट

इसके साथ ही सप्लाई चेन एनालिस्ट, कम्युनिकेशन मैनेजर, डिजिटल मार्केटिंग मैनेजर, मार्केटिंग कोर्डिनेटर तथा जूनियर बिजनेस एनालिस्ट जैसे कई मार्केडिंग जॉब्स हैं जिनमें आप अपना करियर बना सकते हैं।